जीशान कादरी बतौर लेखक शूटिंग में नहीं करते हस्तक्षेप

फिल्म निर्माता हंसल मेहता की आगामी फिल्म 'तुर्रम खां' की कहानी लिखने वाले पटकथा लेखक जीशान कादरी कहते हैं कि एक बार जब वह एक निर्देशक को स्क्रिप्ट सौंपते हैं, तो वह खुद को फिल्म की शूटिंग से दूर कर लेते हैं, क्योंकि वह हस्तक्षेप नहीं करना चाहते।

जीशान कादरी बतौर लेखक शूटिंग में नहीं करते हस्तक्षेप
जीशान कादरी

फिल्म निर्माता हंसल मेहता की आगामी फिल्म 'तुर्रम खां' की कहानी लिखने वाले पटकथा लेखक जीशान कादरी कहते हैं कि एक बार जब वह एक निर्देशक को स्क्रिप्ट सौंपते हैं, तो वह खुद को फिल्म की शूटिंग से दूर कर लेते हैं, क्योंकि वह हस्तक्षेप नहीं करना चाहते।

क्या वह 'तुर्रम खां' की शूटिंग के दौरान अपने सुझाव नहीं देना चाहेंगे?

इस सवाल के जवाब में कादरी ने आईएएनएस से कहा, "एक लेखक के रूप में निर्देशक को स्क्रिप्ट सौंपने के बाद मैं खुद को फिल्म की शूटिंग से दूर कर लेता हूं, क्योंकि मैं एक लेखक के रूप में फिल्म में हस्तक्षेप नहीं करना चाहता। मैंने अनुराग कश्यप के साथ काम किया है, मैंने तुर्रम खां की कहानी लिखी है। फिल्म का निर्देशन हंसल मेहता सर कर रहे हैं। मैं सेट पर हर दिन नहीं जाता।"

उन्होंने कहा, "निर्देशन के माध्यम से कहानी को दूसरे चरण में ले जाने के लिए अनुभव और कौशल दोनों की जरूरत है। मुझे पता है कि मेरी कहानी अच्छे हाथों में है।"

'तुर्रम खां' एक हास्य फिल्म है, जिसमें राजकुमार राव और नुसरत भरूचा नजर आएंगे। 

कादरी को अपराध शैली पर केंद्रित फिल्म 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' के सह-लेखन से प्रसिद्धि मिली। उन्होंने 'गैंग्स ऑफ वासेपुर 2' में अभिनय भी किया है। इसके अलावा 'मेरठिया गैंगस्टर्स' का निर्देशन भी किया है।

हास्य फिल्म क्यों लिखी? इसके जवाब में कादरी ने कहा, "मैंने वासेपुर की कहानी दस साल पहले लिखी थी। समय बदल चुका है और मैं भी। हां, तुर्रम खां हास्य फिल्म है।"

उन्होंने आगे कहा, "मैंने वेब-सीरीज 'भूत-पूर्व' की कहानी भी लिखी है, लेकिन तथ्य यह है कि एक लेखक के रूप में, मैं एक से अधिक विधाओं की खोज करना चाहता हूं।"

कादरी ने कहा, "इसलिए मैं हास्य, मानवीय रिश्ते, सामाजिक कहानी और सब कुछ लिख रहा हूं।"


Follow @_aBoxOffice