सूरत की अग्नि त्रासदी पर बी-टाउन सेलेब्स ने किया दुख व्यक्त

अमिताभ बच्चन, जावेद अख्तर और श्रद्धा कपूर ने शनिवार को, सूरत अग्निकांड में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए इस त्रासदी को 'विनाशकारी', 'भयंकर', 'दुर्भाग्यपूर्ण'और 'दिल दुखा देने वाला' बताया।

सूरत की अग्नि त्रासदी पर बी-टाउन सेलेब्स ने किया दुख व्यक्त
सूरत अग्नि त्रासदी

अमिताभ बच्चन, जावेद अख्तर और श्रद्धा कपूर ने शनिवार को, सूरत अग्निकांड में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए इस त्रासदी को 'विनाशकारी', 'भयंकर', 'दुर्भाग्यपूर्ण'और 'दिल दुखा देने वाला' बताया।

सूरत में शुक्रवार को हुए इस अग्निकांड में मरने वालों की संख्या शनिवार को बढ़कर 23 हो गई। यहां तक कि सात छात्र अस्पताल में जूझ रहे हैं।

चार मंजिला इमारत की सबसे ऊपरी मंजिल पर कोचिंग सेंटर में आग लगने से मारे गए अधिकांश छात्रों की उम्र 14-17 के बीच में है। इनमें से कुछ शनिवार को आने वाले कक्षा 12 के परिणाओं की प्रतीक्षा कर रहे थे

इस दिल दहला देने वाली घटना को लेकर बॉलीवुड सेलेब्स ने कुछ इस प्रकार से ट्वीट किया :

अमिताभ बच्चन : सूरत में भयानक त्रासदी। एक विनाशकारी आग और इसकी चपेट में आने वाले 14-17 साल के बच्चों की मौत इमारत से कूंदने के चलते हो जाती है। अभिव्यक्ति से परे है यह दुख। उनके लिए प्रार्थना।

जावेद अख्तर : यह वास्तव में बहुत बड़ी त्रासदी है कि सूरत में 17 जवान लोगों की मौत जिंदा जलने से हुई। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदना है। हमारे देश के सभी शहरों की नगरपालिकाओं को अग्नि सुरक्षा नियमों का पालन करने वाली प्रत्येक इमारत को बनाने के लिए अधिक सख्त और आग्रहपूर्ण होना चाहिए।

शत्रुघ्न सिन्हा : यह दुख शब्दों से परे है। सूरत के सरथाणा में एक कमर्शियल कॉम्प्लेक्स में आग लगने की भयंकर और दुर्भागयपूर्ण घटना से बहुत दुखी हूं। 15 से अधिक मारे गए और उनमें से ज्यादातर युवा थे। उनके प्रति मेरी दिली संवेदना और प्रार्थना है जिन्होंने अपने प्रियजनों को इस हादसे में खो दिया। दुखद!

श्रद्धा कपूर : सूरत अग्नि त्रासदी के बारे में सुनकर सदमे में हूं और दुखी हूं। यह ह्दय विदारक है। प्रार्थना करती हूं।

भूमि पेडनेकर : पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदना..उनकी आत्मा को शांति मिलें। यह वाकई में बेहद दुखद है। हमें वास्तव में अपनी सुरक्षा, सुरक्षा नियमों और शर्तो के प्रति अधिक सावधान रहने की जरूरत है। सख्त कानून और उन्हें लागू किए जाने की भी आवश्यकता है।

सोनू सूद : सूरत में अग्नि त्रासदी के बारे में सुनकर बहुत दुखी हूं। इतने सारे अनमोल युवाओं की जाने चली गईं। काफी भयावह! उन परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं जिन्होंने अपने बच्चों को खो दिया है।

सुनील ग्रोवर : सूरत में जान गंवाने वाले बच्चों के लिए प्रार्थना। ऐसा नहीं होना चाहिए था

गुरु रंधावा : सूरत में सभी के लिए प्रार्थना। आग के चलते पीड़ित परिवारों और बच्चों को भगवान आशीर्वाद दें।

अशोक पंडित : सूरत अग्नि दुर्घटना जिसमें 19 जिंदगियां तबाह हो गई, के दृश्य को देख दुखी और व्यथित हूं। अपनी जिंदगी को बचाने के लिए इमारत से नीचे कूदने वाले छात्रों के दृश्य को देख रीढ़ की हड्डी में सिहरन पैदा हो जाती है। भगवान उन लोगों के परिवारों को शक्ति दें जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया और जो घायल हुए हैं वे जल्द ही ठीक हो जाए।


Follow @_aBoxOffice