शेखर कपूर को खुद को साबित करने के लिए कारों की जरूरत नहीं

प्रशंसित फिल्म निर्माता शेखर कपूर ने मुंबई में कार का मालिक होने को मूर्खतापूर्ण बात बताया और कहा कि उन्हें अपने आत्मसम्मान को साबित करने के लिए कार की आवश्यकता नहीं है।

शेखर कपूर को खुद को साबित करने के लिए कारों की जरूरत नहीं
शेखर कपूर

प्रशंसित फिल्म निर्माता शेखर कपूर ने मुंबई में कार का मालिक होने को मूर्खतापूर्ण बात बताया और कहा कि उन्हें अपने आत्मसम्मान को साबित करने के लिए कार की आवश्यकता नहीं है।

shekar kapur

एक ट्विटर यूजर ने कपूर को लिखा, "मुझे यह जानकर अजीब सा सुकून मिला है कि आप जैसे मशहूर व्यक्ति अभी भी रिक्शा का इस्तेमाल करते हैं।"

shekar kapur

जिसका कपूर ने जवाब देते हुए कहा, "मेरे पास कार नहीं है। मुंबई में एक कार का मालिक होना मूर्खतापूर्ण है। एक औसत आकार की कार को बनाने के लिए 600,000 लीटर पानी लगता है। क्या हमें भोजन उगाने के लिए उस पानी का उपयोग नहीं करना चाहिए?"

shekhar-kapoor

एक सोशल मीडिया ट्रोलर ने इसके बाद उनसे पूछा कि उसके पास कार नहीं है, जबकि "बॉलीवुड हस्तियों के पास 20 से अधिक आयातित कारें हैं।"

shekhar-kapoor

कपूर ने इसके जवाब में कहा, "मुझे अपने आत्मसम्मान को साबित करने के लिए 20 आयातित कारों की आवश्यकता नहीं है।"

कपूर 'बैंडिट क्वीन', 'मासूम' और 'मिस्टर इंडिया' जैसी फिल्में बना चुके हैं।

mister india scene

एक अन्य यूजर ने उनसे पूछा कि क्या वह रिक्शा का इस्तेमाल करते हैं।

कपूर ने कहा, "मेरे पास कार नहीं है। इसलिए अक्सर रिक्शा का उपयोग करता हूं।"


Follow @aBoxOffice