हम जायरा को उसके हाल पर क्यों नहीं छोड़ देते : अनुभव सिन्हा

जातिगत भेदभाव पर आधारित हालिया रिलीज फिल्म 'आर्टिकल 15' के निर्माता अनुभव सिन्हा का कहना है कि 'दंगल' की अभिनेत्री जायरा वसीम ने अगर फिल्म इंडस्ट्री छोड़ने का फैसला लिया है तो लोगों को अब उनके इस फैसले पर छोड़ देना चाहिए।

हम जायरा को उसके हाल पर क्यों नहीं छोड़ देते : अनुभव सिन्हा
अनुभव सिन्हा

जातिगत भेदभाव पर आधारित हालिया रिलीज फिल्म 'आर्टिकल 15' के निर्माता अनुभव सिन्हा का कहना है कि 'दंगल' की अभिनेत्री जायरा वसीम ने अगर फिल्म इंडस्ट्री छोड़ने का फैसला लिया है तो लोगों को अब उनके इस फैसले पर छोड़ देना चाहिए। जायरा ने अभिनय से जुड़ी न रहने की घोषणा करते हुए कहा था, "मैंने एक ऐसे माहौल में काम करना जारी रखा, जिसने मेरे ईमान पर लगातार हस्तक्षेप किया, और इससे धर्म के साथ मेरे रिश्ते को खतरा है।"

इस पर फिल्म जगत के तमाम लोगों ने अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं दीं।

सिन्हा का कहना है कि आखिरकार यह जायरा का निजी फैसला है।

उन्होंने कहा, "यहां तक कि मेरे भी कई मुस्लिम दोस्त हैं जो खुद को तस्वीरें खिंचवाने से दूर रखते हैं, क्योंकि उनका कहना है कि यह इस्लाम के खिलाफ है। मैं ऐसे हिंदू लड़कों को जानता हूं जिन्होंने ईश्वर की तलाश में सांसारिक जीवन त्याग दिया। यह उनका फैसला है और इसमें कुछ गलत नहीं है।"

अनुभव ने आगे कहा, "हां, अगर उस (जायरा) पर ऐसा करने के लिए किसी का दबाव है तो यह बहस का एक अलग मुद्दा है, लेकिन मैं इसके बारे में नहीं जानता, इसलिए मैं इस पर टिप्पणी नहीं कर सकता।"

साल 2016 में जायरा ने 'दंगल' से बॉलीवुड में कदम रखा था और फिल्म 'सीक्रेट सुपरस्टार' में उन्हें उनके काम के लिए बहुत सराहा गया।

कुछ लोगों के लिए जायरा का यह फैसला प्रतिगामी है। इस पर सिन्हा ने कहा, "हर पीढ़ी में कुछ लोग विभिन्न विकल्पों का अभ्यास करते हैं और मुझे लगता है कि उन्हें ऐसा करने देना चाहिए।"
 


Follow @aBoxOffice