सिनेमा के खेल को समझने की कोशिश कर रहा हूं : चंदन रॉय

मनोरंजन की विकसित दुनिया में अभिनेता चंदन रॉय सान्याल अपनी विज्ञान-फिक्शन वेब सीरीज 'हवा बादले हस्सू' के लिए कमर कस चुके हैं। उनका कहना है कि वह सिर्फ अच्छी कहानियों का हिस्सा बनना चाह रहे हैं और 'सिनेमा के खेल' को समझने का प्रयास कर रहे हैं। सिनेमा के बदलते व्यापार पर चंदन ने आईएएनएस से साक्षात्कार में कहा, "यह सच है कि बीते कुछ सालों में हमारे मनोरंजन व्यवसाय में बहुत कुछ बदला है - चाहे वह कहानी हो, विभिन्न प्लेटफार्म हो या दर्शकों से मिलने वाली सराहना हो। अब चीजें बेहतर हैं। लेकिन इसमें फिट बैठने के लिए मैं अपने अंदर कोई बदलाव नहीं करने वाला

सिनेमा के खेल को समझने की कोशिश कर रहा हूं : चंदन रॉय
चंदन रॉय

मनोरंजन की विकसित दुनिया में अभिनेता चंदन रॉय सान्याल अपनी विज्ञान-फिक्शन वेब सीरीज 'हवा बादले हस्सू' के लिए कमर कस चुके हैं। उनका कहना है कि वह सिर्फ अच्छी कहानियों का हिस्सा बनना चाह रहे हैं और 'सिनेमा के खेल' को समझने का प्रयास कर रहे हैं। सिनेमा के बदलते व्यापार पर चंदन ने आईएएनएस से साक्षात्कार में कहा, "यह सच है कि बीते कुछ सालों में हमारे मनोरंजन व्यवसाय में बहुत कुछ बदला है - चाहे वह कहानी हो, विभिन्न प्लेटफार्म हो या दर्शकों से मिलने वाली सराहना हो। अब चीजें बेहतर हैं। लेकिन इसमें फिट बैठने के लिए मैं अपने अंदर कोई बदलाव नहीं करने वाला।"

अभिनेता ने आगे कहा, "एक अभिनेता के तौर पर मेरे अंदर कुछ भी नहीं बदला है। मैं अब भी वही हूं जो एक अच्छी कहानी का हिस्सा बनने के लिए उत्सुक रहता है। इसके साथ ही सिनेमा के खेल को समझने की कोशिश कर रहा हूं।"

'हवा बादले हस्सू' की कहानी बदलते पर्यावरण से मनुष्य जीवन पर पड़ने वाले प्रभाव और ग्लोबल वार्मिग पर आधारित है।

इस संदेश की वजह से ही चंदन ने इस परियोजना को चुना।

शो में स्मिता तांबे, विक्रम कोचर के साथ जेचरी कॉफिन भी नजर आएंगे।


Follow @aBoxOffice